Mark Zuckerberg Biography in Hindi

Mark Zuckerberg Biography in Hindi

Mark Zuckerberg का जन्म 14 मई 1984 को न्यूयॉर्क में स्तिथ Dobs Fairy में हुआ उनके घर मे उनके माता पिता स्तिथ तीन बहने है और वो घर के एक लौते बेटे हैं । Mark Zuckerberg के पिता एक Dentist है और उनकी माँ Psychiatrists ।

Mark बचपन से ही बहुत ही तेज़ और होनहार बेटे रहे है । जब वो स्कूल में थे तभी से उनको Programming मे ज्यादा रुचि होने लगी थी और उनके पिता Aatari Basic Programming पढ़ाया करते थे । मार्क अपनी पढ़ाई मे इतना तेज थे कि उन्होंने 12 साल की उम्र मे ही एक Messenger बनाया था जिसका नाम ZUCKNET रखा । उनके पिता इस Software को अपने कंप्यूटर मैं इनस्टॉल कर उसे अपने क्लिनिक मैं इस्तेमाल किया करते थे और उनकी Receptionist ने मैसेंजर के ज़रिये उनके नए मरीज के आने की खबर देती थी ।


Mark Zuckerberg की इस काबिलियत को देख कर उनके पिता ने उन्हें बढ़ावा दिया और उनके लिए एक कंप्यूटर टीचर को बुलवाया जो उन्हें प्रोग्रामिंग सिखाते थे । मार्क इतनी तेजी से प्रोग्रामिंग सीखते चले गए कि उनके टीचर भी हैरान रह गए । जिस उम्र मे बच्चे पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान नहीं देते है और खेल कूद मे लगे रहते है उसी उम्र में मार्क मस्ती करने के लिए अपने दोस्तों को वीडियो गंजबना कर देते थे ।

अपने हाई स्कूल के दौरान ही उन्होंने एक Mp3 Media Player बनाया जिसका नाम उन्होंने Sign Apps रखा । ये एक ऐसा प्लेयर था जो यूजर के लिए Playlist अपने आप ही तैयार कर देता था । IT Giant सॉफ्टवेयर कंपनी , Microsoft और AOC ने Media Player मे रुचि दिखाने लगे और उसे खरीदने के लिए उन्होंने मार्क को बहुत से पैसे आफर किये मगर उन्होंने इसे एक्सेप्ट करने से मना कर दिया । अपनी स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद मार्क ने आगे की पढ़ाई करने के लिए Howard University मे दाखिला ले लिया वहाँ भी मार्क अपनी Intelligence की वजह से बहुत पॉपुलर थे और Software Developer के रूप मे जाने जाते थे ।

साल 2003 में उन्होंने एक साइट बनाई जिसका नाम FaceMash था । मार्क ने इसको बनाने के लिए अपने Howard University के डाटा हैक किया और वहाँ से University में पढ़ने वाले सभी स्टूडेंट्स के प्रोफाइल पिक्चर्स अपनी साइट मे डाले । ये वेबसाइट अपने आप ही दो स्टूडेंट्स की फ़ोटो सेलेक्ट करती थी और उन्ही से कोन ज्यादा अच्छा दिखता है उस पर वोटिंग चलती थी । इस साइट पर वोट देने वाले लोग उस यूनिवर्सिटी के ही स्टूडेंट्स थे । रातो रात इस साइट की पॉपुलैरिटी इतनी बढ़ गई कि बहुत से स्टूडेंट्स इसे एक्सेस करने लगे और ट्रैफिक होने की वजह से यूनिवर्सिटी का सर्वर क्रैश हो गया ।

इसके बाद मार्क को यूनिवर्सिटी के टीचर्स और प्रिंसिपल से बहुत डाट पड़ी और उस वेबसाइट को बंद करवाया गया । FaceMash के Incident के कुछ समय बाद होवार्ड का एक स्टूडेंट Divya Narendra मार्क के पास Social Networking site का आईडिया लेकर आया था और उनके साथ दो और पार्टनर्स भी थे ।


Divya ने Mark से कहा कि साइट को वो अपनी यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स के लिए बनाना चाहता है जिसका नाम Howard Connection होगा बाद मे जिसका नाम Connect You रखा गया । उन्होंने कहा कि साइट से जुड़े सभी मेंबर्स इंटरनेट जरिये अपने Photos पर्सनल इनफार्मेशन और Useful Links एक दूसरे के साथ शेयर कर सकते है । मार्क ने इस आईडिया को सुन कर तुरंत हा कर दी और उनके साथ काम करने में जुट गए । इस प्रोजेक्ट पर काम करने के दौरान उन्हें अपनी खुद की एक सोशल नेटवर्किंग साइट सुरु करने का विचार आया और सन 2004 मे मार्क ने The Facebook Dot Com Domain रजिस्टर करवा लिया जिसे आज पूरी दुनिया Facebook Dot Com के नाम से जानते है ।

फेसबुक का इस्तेमाल उस वक़्त उनके यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स ही करते थे और धीरे धीरे कर के साल 2005 में फेसबुक का इस्तेमाल USA की सभी यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स करने लगे । फेसबुक की पॉपुलैरिटी दिन बा दिन बढ़ती जा रही थी और ये देख कर मार्क ने Decide कर लिया कि फेसबुक का इस्तेमाल अब सिर्फ स्टूडेंट्स ही नहीं बल्कि दुनिया भर के सभी लोग करेंगें ।

इस प्रोजेक्ट को Success करने के लिए मार्क ने अपनी होवार्ड की पढ़ाई आधे रास्ते मे ही छोड़ दी । फेसबुक की एक खासियत है कि यहाँ लोग नए दोस्त बना सकते है और अपने पुराने बिछड़े दोस्त से दुबारा बात कर सकते है फिर चाहे उनके दोस्त दुनिया के किसी कोने में हो । इसी खासियत को देख कर लोग फेसबुक की तरफ कीची चले आते है और यही कारण है कि फेसबुक की लोकप्रियता इतनी बढ़ गई कि आज इसके दुनिया भर मे 1 Billion Users है ।


मार्क जुकरबर्ग ने जब फेसबुक बनाई थी तब वो सिर्फ 19 साल के थे और इतनी छोटी सी उम्र में उन्होंने दुनिया भर के लोगो को एक साथ जोड़ कर रख दिया ।

साल 2010 मे इन्हें Times Person Of The Year का अवार्ड भी मिला । 2015 मे Fobs Magazine के हिसाब से Mark Zuckerberg के जेवन और उनकी सफलता से प्रेरित हो कर उनके ऊपर एक फ़िल्म भी बनी है जिसका नाम The Social Network है ।

2 Comments on “Mark Zuckerberg Biography in Hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *